Dool Singh Mahla

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search

Dool Singh Mahla (दूलसिंह महला) was a Professor in Pilani College. He was from village Disnau, Laxmangarh, Sikar, Rajasthan. He played an important role in spreading education in the area. He was younger brother of Khadag Singh Mahla, who was an Advocate and Freedom fighter of Shekhawati farmers movement. [1] He motivated Ghasi Ram Verma for advance research in Mathematics.

जीवन परिचय

जाट जन सेवक

ठाकुर देशराज[2] ने लिखा है ....चौधरी खड़गसिंह जी [p.321]: अभी-अभी जिनका नाम एक उदीयमान तारे की भांति जाट जगत के सामने आया है उनका नाम चौधरी खड़गसिंह है। आप दिसनाउ गांव के चौधरी हुकम सिंह जी के पुत्र हैं। गोत्र आपका भी महला है। आपने वकालत पास की है और इस समय आप प्रैक्टिस कर रहे हैं। आपके छोटे भाई दूलसिंह जी पिलानी कॉलेज में प्रोफेसर हैं।

चौधरी खड़ग सिंह जी को इसी वर्ष के आरंभिक महीने जनवरी सन 1949 में सीकर ठिकाने के अधिकारियों ने एक झूठे इल्जाम में गिरफ्तार कराया था। आपके साथ ही चौधरी ईश्वर सिंह जी और त्रिलोक सिंह जी भी गिरफ्तार कराए गए थे।

आप एक होनहार और योग्य नौजवान हैं। कौम के लोग आप से काफी उम्मीदें रखते हैं।

External links

References


Back to Jat Jan Sewak/The Freedom Fighters