Jethwan Ka Bas

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search
Location of Jethwan Ka Bas in Sikar district

Jethwan Ka Bas (जेठवां का बास) is a village in Fatehpur tehsil of Sikar district in Rajasthan.

Location

Jethwan Ka Bas is located 1 km north-west of Fatehpur-Salasar Road-NH 58. जेठवाँ का बास फतेहपुर-सालासर राष्ट्रीय राजमार्ग NH.58 से 1 किमी उत्तर-पश्चिम में स्थित है। अक्षांश-देशान्तर - 27°51'20.8"N - 74°47'59.6"E

Founder / स्थापना

Ganga Ram Jethu (गांगाराम जेठू) जाट - इस गाँव की स्थापना गांगाराम जेठू ने संवत् 1904 में की थी।

Jat Gotras


Other castes include: Kumawat (30), Purohit (7), Khandelwal Brahman (5), Meghwal (Mahil+Barbad (30), Nayak (4), Rajput (0).

Population

  • According to Census-2001, the poulation of this village was 1,176.
  • As per Census-2011 statistics, Jethwan Ka Bas village has the total population of 1439 (of which 750 are males while 689are females).[1]

History

जेठवाँ का बास गाँव का इतिहास

गाँव का की नींव - संवत् 1902 में पक्के कुआं का निर्माण कार्य पूर्ण हुआ और इसके साथ कि गाँव की नींव पड़ी । संवत् 1904 में कुआं क्षेत्र में बास की स्थायी नींव रखी । इस प्रकार जेठूओं का बास संवत् 1904 में बसा एक गाँव है । कुआं बनने के बाद जेठू अपने को स्थायी समझने लगे थे । परंतु दांतरु के अधिकृत राजस्वकर्ताओं से फसल का नुकसान बराबर होता रहा फलतः दांतरु भोमियों से गंगाराम जेठूतेजाराम जेठू (पिता-पुत्र) की खटपट चलती रहती थी ।

गांवों में सीकर ठिकाने द्वारा तबाही के दृश्य

ठाकुर देशराज[2] ने लिखा है ....गांवों में सीकर ठिकाने द्वारा अन्यायों का तांता बन गया और गांवों में जाटों को पीटा जाने लगा ।

इसी प्रकार एक अकाल वर्ष में लगान वसूलने के लिए जेठवा के बास में किसानों को पीटा व महिलाओं के साथ बदसलूकी की जाने लगी ! जिसको रामू चौधरी बरदास्त नही कर सका और अंग्रेज अधिकारी के सामने विराध किया । रामू चौधरी बोले - पूरे गाँव का लगान मैं दूँगा और फिर रामू चौधरी ने तमाम गांव का 1700 रूपये (चांदी के सिक्कें) लगान में अपने घर से दिये ।

Notable persons

  • Ramu Ram Jethoo - रामू राम चौधरी स्वतंत्रता सेनानी हैं । आपके चार पुत्र 1.लक्ष्मण, 2.पूर्णाराम चौधरी, 3.भगवाना राम, 4.किसना राम है । आप की वर्तमान में 7 वीं पीठी चल रही है ।
  • Manrup Jethu (मनरूप जेठू) - आप को बढ़ वाले बाबा के नाम से भी जाना जाता हैं । आप ने पर्यावरण के लिए सराहनीय कार्य किया हैं और आप लगातर 45 वर्ष से पेड़ लगाते आ रहे हैं ।

External links

References


Back to Jat Villages