Tiroki Chhoti

From Jatland Wiki
Jump to navigation Jump to search
Location of Tiroki Badi in Sikar district

Tiroki Chhoti (तिड़ोकी छोटी) is a medium-size village in Laxmangarh tehsil of Sikar district in Rajasthan. It is one of the three villages under Tiroki Bari gram panchayat.

Location

The village is situated on the feeder road, connecting Mangloona village to Lachhamangarh-Salasar road (MDR-2). Another feeder road, originating from MDR-2 in Juliasar village via Tiroki Bari also connects the village. Another way to reach the village is, feeder road originating from Sikar-Salasar road (MDR-24) via Sutod and Tiroki Bari villages.

Origin

Kaswan jats came from Satyun village in Churu and established Tiroki Chhoti.

The Founders

  • Choudhary Birama Ram Kaswan
  • Ch. Ishwar Ram Kaswan
  • Ch. Ratan Singh Kaswan
  • Ch. Dudaram Kaswan

History

कर्नल टाड ने यद्यपि जाटों की कसवा शाखा का उल्लेख जाटों के प्रमुख ठिकानों में नहीं किया है लेकिन दयालदास, पाऊलेट, मुंशी सोहन लाल आदि ने कसवा जाटों को प्रमुख ठिकानों में गिना है. उनके अनुसार कसवां जाटों का प्रमुख ठिकाना सीधमुख था और राठोडों के आगमन के समय कसवां कंवारपल उनका मुखिया था तथा 400 गाँवों पर उसकी सत्ता थी.[1]

कंसुपाल 5000 फौज के साथ मंडोर छोड़कर पहले तालछापर पर आए, जहाँ मोहिलों का राज था. कंसुपाल ने मोहिलों को हराकर छापर पर अधिकार कर लिया. इसके बाद वह आसोज बदी 4 संवत 1125 मंगलवार (19 अगस्त 1068) को सीधमुख आया. वहां रणजीत जोहिया राज करता था जिसके अधिकार में 125 गाँव थे. लड़ाई हुई जिसमें 125 जोहिया तथा कंसुपाल के 70 लोग मारे गए. इस लड़ाई में कंसुपाल विजयी हुए. सीधमुख पर कंसुपाल का अधिकार हो गया और वहां पर भी अपने थाने स्थापित किए. सीधमुख विजय के बाद कंसुपाल सात्यूं (चुरू से 12 कोस उत्तर-पूर्व) आया, जहाँ चौहानों के सात भाई (सातू, सूरजमल, भोमानी, नरसी, तेजसी, कीरतसी और प्रतापसी) राज करते थे. कंसुपाल ने यहाँ उनसे लड़ाई की जिसमें सातों चौहान भाई मरे गए. चौहान भाइयों की सात स्त्रियाँ- भाटियाणी, नौरंगदे, पंवार तथा हीरू आदि सती हुई. फाल्गुन सुदी 2 शनिवार, संवत 1150, 18 फरवरी, 1094, के दिन कंसुपाल का सात्यूं पर कब्जा हो गया. फ़िर सात्यूं से कसवां लोग समय-समय पर आस-पास के भिन्न-भिन्न स्थानों पर फ़ैल गए और उनके अपने-अपने ठिकाने स्थापित किए, उनमे से एक ठिकाना सीकर जिले की लक्ष्मणगढ़ तहसील में तिड़ोकी छोटी गाँव बना.

Jat Gotras

Jat Monuments

Population

As per Census-2011 statistics, Tiroki Chhoti village has the total population of 1620 (of which 850 are males while 770 are females).[2]

Notable Persons

  • Bajarang Lal Kaswan - first Veterinary Officer (पशुचिकित्सा अधिकारी, राजस्थान सरकार) from Tiroki Chhoti, posted at Laxmangarh.
  • Ramswaroop Kaswan - first lecturer from Tiroki Chhoti.

External Links

References


Back to Jat Villages