Devi Lal Ji.jpg

25 September
is the birthday of Chaudhary Devi Lal

Flowers.png

Khainwar

From Jatland Wiki
(Redirected from Khenwar)
Jump to navigation Jump to search

Khainwar (खैनवार) Khainvar (खैनवार) Khenwar (खेनवार)[1] Khenwa (खेनवा)[2] is Gotra of Jats found in Rajasthan, Madhya Pradesh and Andhra Pradesh.

History

This gotra is said to be originated after place name Kharairi (खरैरी) near Hindon in Rajasthan. [3] Khareri village is in Bayana tahsil of Bharatpur district in Rajasthan.

Villages founded by Khainwar clan

खेनवार गोत्र का इतिहास

खेनवार जाट श्री हरी सिंह भेलाकलां के बहुत बड़े जमींदार थे । इनके पूर्वज "खानखेरा" जिला "राजस्थान" से निकल कर ग्राम बंधोली जिला ग्वालियर आये जहां इनके पूर्वज ने प्रसिद्ध शिव मंदिर बनवाया । फिर इनके पूर्वज किसी कारण वश वहां से पलायन करते हुए ग्राम भेलाकलां पहुंचे । ठाकुर हरी सिंह के चार पुत्र हुए । सबसे बड़े थे मंगल सिंह जाट (माथे), हुकुम सिंह, दिलीप सिंह, मेघ सिंह । ठाकुर मंगल सिंह जाट आस का पास के एरिया में काफी नाम था । इन्होंने अपनी काफ़ी जमीन दान में दे दी थी। मंगल सिंह जाट के चार पुत्र हुए । ठा• निहाल सिंह जाट, ठा• उल्फत सिंह जाट, ठा• गंदर्भ सिंह जाट, ठा• देवेन्द्र सिंह जाट (डॉक्टर) जो कि गुना में पदस्थ हैं।

चारो भाईयो के दो- दो पुत्र हुए निहाल सिंह के जगदीश सिंह जाट (पूर्व सरपंच), ठा• हरज्ञान सिंह जाट। उल्फत सिंह के अरविंद, बंटी जाट दोनों किसान है। गंदर्भ सिंह के सत्येन्द्र, शिवराज जाट। देवेन्द्र सिंह के दिनेश, शैलेन्द्र जाट हुए। जगदीश सिंह और हरज्ञान सिंह किसानी करते है भेलाकलां में ही रहते हैं। अरविंद सिंह और बंटी सिंह भी किसानी करते है। सत्येन्द्र सिंह और शिवराज सिंह भी किसानी करते हैं। दिनेश सिंह मैकेनिकल इंजीनियर हैं और शैलेन्द्र सिंह मैनेजर है।

जगदीश सिंह जाट ग्राम भेलाकलां के सरपंच रह चुके है इनके एक पुत्र और दो पुत्रियां है (सपना, राधा, पीयूष)। हरज्ञान सिंह इनके दो पुत्र हैं (भानुप्रताप सिंह, सूर्यभान सिंह जो कि एमपी पुलिस में कार्यरत हैं)।

Source - Pushpendra Singh Rana Mob.7999836004

Distribution in Madhya Pradesh

Villages in Bhopal district

Bhopal, Imliya (इमलिया), Kachhi Barkhera (काछी बरखेड़ा), Kanera (कनेरा), Karond, Kolar Bhopal, Kotra Bhopal, Kotra Chopra (कोटरा चोपड़ा), Pardi (पारदी),

Villages in Hoshangabad district

Budhni (बुधनी),

Villages in Vidisha district

Vidisha, Raikhedi vidisha

Villages in Sehore district

Sehore,

Villages in Indore district

Indore,

Villages in Shajapur district

Bhada Hedi (भादाहेड़ी), Panwadi (पनवाड़ी), Shajapur शाजापुर, Shujalpur,

Villages in Dhar district

Badnawar (बदनावर), Borali (बोराली), Dhar (धार), Ghatgara, Sulawad, Umariya Dhar (उमरिया),

Villages in Ratlam district

Villages in Ratlam district with population of this gotra are: Amaliya Bheru, Ratlam (1),

Villages in Guna district

Guna,

Villages in Gwalior district

Akbai Badi, Badki Saray, Bahadurpur Gwalior (बहादुरपुर), Bhelakalan, Bhitarwar (भितरवार), Dabra Gwalior (डबरा), Gatari (गतारी), Gobra Gwalior, Guthina (गुठिना), Gwalior (ग्वालियर), Lakhnoti, Lashkar (लश्कर) Pura Banwar, Murar (मुरार), Raee (राई), Rahi, Shyampur Bhitarwar (50), Shyampur Gwalior, Sukha Patha, Thentiyapura (ठेंटियापुरा), Virampura,

Villages in Datia district

Kudari (कुदारी),


Villages in Narsinghpur district

Bilhara, Narsinghpur,

Villages in Bhind district

Bhypura,

Distribution in Rajasthan

Villages in Bharatpur district

Bharatpur, Khan Surjapura (main),

Distribution in Uttar Pradesh

Villages in Agra district

Garhsani, Jautana,

Khainwar Khap has 5 villages in Agra district. [4]

Notable Persons

  • Ganpat Singh Kunwar (Khainwar) - Social worker from village Amaliya Bheru (आमलिया भेरू) in Ratlam district in Madhya Pradesh.
  • ठाकुर मजबूतसिंह - आप रई गांव के रईस हैं। आप का गोत्र खेनवार है। आप दो भाई हैं। छोटे भाई मनुलाल जी हैं। आप एक अनुभवी पुरुष हैं और शिक्षित भी हैं। छोटे भाई की प्रतिभाएं लोग मानते हैं। आप की अवस्था इस समय 44-45 साल के लगभग होगी। आप ग्वालियर राज्य जाट कांफ्रेंस के कोषा अध्यक्ष और सदस्य हैं। आपके भाई के पुत्र नरेंद्रसिंह ने मैट्रिक पास कर लिया है। आपके पुत्र देवेंद्रसिंह जी ने हिंदी की मध्यम श्रेणी तक शिक्षा प्राप्त की है। सभा के कामों में आप काफी दिलचस्पी लेते हैं और नरेंद्रसिंह इस समय कार्यकारिणी के सदस्य भी हैं। [5]
  • ठाकुर पोषनसिंह - [पृ.573]: आप भी रई के रहने वाले हैं। गोत्र आपका खेनवार है। आप दो भाई हैं। बड़े भाई प्रीतमसिंह जी हैं। आज से लगभग 25 वर्ष पहले रई के ठाकुर जुझारसिंह जी के घर आपका जन्म हुआ। पिताजी के असामयिक देहावसान के कारण आपने मेट्रिक से पढ़ना छोड़ दिया। इस समय आप ग्वालियर राज्य जाट सभा की कार्यकारिणी के सदस्य हैं। इससे पहले आप उपमंत्री भी रह चुके हैं। आप एक उत्साही नौजवान हैं। भाई आप तीन हैं। यहीं के रहने वाले एक दूसरे जाट सज्जन ठाकुर मुन्नालाल जी हैं जो कोमी कामों में पूरी दिलचस्पी लेते हैं।[6]
  • ठाकुर कमोदसिंह जी - [पृ.575]: श्यामपुर (ग्वालियर) में खेनवार गोत्र के ठाकुर प्रमोदसिंह जी एक बहादुर जमीदार है। ठाकुर हमीरसिंह के सुपुत्र हैं। [7]
  • ठाकुर खलकसिंह – [पृ.577]: राज्य ग्वालियर पिछोर परगने में गतारी गांव के खैनवार गोत ठाकुर खलकसिंह जी हैं जिनकी अवस्था 45-46 साल के पास होगी। एक बड़े समझदार और जमीदार सरदार हैं। [8]
  • Ayushi Khainwar - First Prize Winner in Maharaja Suraj Mal Competition, D/O Rajesh Khainwar, got 83.2 % marks in 12th class
  • Kiran Khainwar - Social worker from Gwalior

Gallery

External Links

References


Back to Jat Gotras